12 सितंबर से छत्तीसगढ़ में परिवर्तन यात्रा शुरू करेगी भाजपा

0
53

छत्तीसगढ़ में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राज्य में परिवर्तन यात्रा निकालने का फैसला किया है। यह यात्रा 87 विधानसभा क्षेत्रों में 2,989 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। यह यात्रा राज्य में 12 सितंबर और 16 सितंबर से दो अलग-अलग स्थानों दंतेवाड़ा (दक्षिण छत्तीसगढ़) और जशपुर (उत्तर छत्तीसगढ़) से शुरू की जाएगी। भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अरुण साव ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 12 सितंबर को दंतेवाड़ा में एक सार्वजनिक रैली के दौरान मां दंतेश्वरी का आशीर्वाद लेने के बाद पहली परिवर्तन यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे।

उन्होंने बताया कि 16 दिवसीय यह यात्रा 21 जिलों में 1,728 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। साव ने बताया कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 16 सितंबर को जशपुर में दूसरी परिवर्तन यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि यह यात्रा राज्य के बिलासपुर और सरगुजा संभाग में 12 दिनों में 1,261 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। उन्होंने बताया कि दोनों यात्राओं के तहत 84 जनसभा, 85 स्वागत सभा और सात रोड शो होंगे। यह यात्रा 87 विधानसभा क्षेत्रों में 2,989 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद बिलासपुर में समाप्त होंगी। यात्रा के समापन समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शामिल होने की उम्मीद है।

यह पूछे जाने पर कि तीन विधानसभा क्षेत्रों को क्यों बाहर रखा गया है क्योंकि राज्य में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं, साव ने कहा कि बीजापुर, सुकमा और अंतागढ़ निर्वाचन क्षेत्रों (तीनों माओवाद प्रभावित) को यात्रा में शामिल नहीं किया गया है, लेकिन जब यात्रा आसपास के निर्वाचन क्षेत्रों से गुजरेगी तो तीनों निर्वाचन क्षेत्रों के लोग इसमें शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य से ”कांग्रेस शासन को उखाड़ फेंकने के लिए निकाली जा रही यात्रा” के दौरान भाजपा भूपेश बघेल सरकार की विफलताओं को उठाएगी। यात्रा में केंद्र और राज्य के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के वरिष्ठ नेता दो-दो दिनों के लिए दोनों यात्राओं में शामिल होंगे।

छत्तीसगढ़ में रमन सिंह के नेतृत्व में 15 साल (2003-2018) तक सत्ता में रहने के बाद, भाजपा को 2018 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के हाथों भारी हार का सामना करना पड़ा था। पार्टी अब सत्ता में वापसी की कोशिश में है। भाजपा ने पिछले महीने उन 21 सीट के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की थी जहां वह 2018 में कांग्रेस से हार गई थी। 90 सदस्यीय छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा अभी नहीं की गई है। 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने कुल 90 सीट में से 68 सीट जीती थीं, जबकि भाजपा 15 सीट पर जीत के साथ दूसरे स्थान पर रही थी। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़-जोगी को पांच सीटें और उसकी सहयोगी बहुजन समाज पार्टी को दो सीट पर जीत मिली थीं। कांग्रेस के पास वर्तमान में 71 सीट हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here