छत्तीसगढ़ में धोखाधड़ी: फर्जी डिग्री दिखाकर नौकरी हासिल करने का आरोप, रणजी क्रिकेट टीम के कप्तान पर मामला दर्ज

0
4

छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले की पुलिस ने महालेखाकार कार्यालय में नौकरी के लिए डिग्री का फर्जी दस्तावेज जमा करने के आरोप में ​रणजी क्रिकेट टीम के कप्तान के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। रायपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि जिले के विधानसभा थाना की पुलिस ने क्रिकेट खिलाड़ी और राज्य के रणजी टीम के कप्तान हरप्रीत सिंह भाटिया (31) के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि महालेखाकार कार्यालय की शिकायत पर बालोद जिले के निवासी भाटिया के खिलाफ मामला दर्ज किया है। भाटिया पर फर्जी अंकसूची के आधार पर महालेखाकार कार्यालय में लेखा परीक्षक/लेखापाल की नौकरी हासिल करने का आरोप है। उन्होंने बताया कि महालेखाकार कार्यालय छत्तीसगढ़ ने वर्ष 2014 में क्रिकेट कैडर से लेखा परीक्षक/लेखाकार के पद पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किया था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि भाटिया द्वारा जमा किए गए दस्तावेजों के प्रारंभिक सत्यापन के बाद उसे फील्ड ट्रायल के लिए बुलाया गया था और प्रदर्शन के आधार पर भाटिया को उम्मीदवारों की संभावित सूची में चुना गया था।

उन्होंने बताया कि भाटिया ने इस दौरान बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी से बीकॉम की डिग्री हासिल करने का प्रमाणपत्र जमा किया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रक्रिया का पालन करते हुए विभाग ने डिग्री की प्रमाणिकता की पुष्टि के लिए विश्वविद्यालय से संपर्क किया, तो जानकारी मिली कि संस्थान ने ऐसी कोई अंकसूची जारी नहीं की थी। इसके बाद विभाग ने विधानसभा थाने में भाटिया के खिलाफ शिकायत दर्ज कराया था। उन्होंने बताया कि महालेखाकार कार्यालय से प्राप्त शिकायत के आधार पर पुलिस ने क्रिकेट खिलाड़ी भाटिया के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 420, 467, 468, 469, 470 और 471 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। भाटिया वर्ष 2010 आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप में भारतीय टीम का सदस्य था। उसे वर्ष 2011 के इंडियन प्रीमियर लीग में पुणे वॉरियर्स इंडिया ने अपनी टीम में चुना था। बाद में उसे वर्ष 2017 में रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर द्वारा चुना गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here