छत्तीसगढ़ जीत के प्रति आश्वस्त हूं, लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन दें : खरगे

0
64

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने रविवार को भरोसा जताया कि उनकी पार्टी इस साल के अंत में होने वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में एक बार फिर जीत हासिल करेगी और लोगों से संविधान एवं लोकतंत्र को बचाने के लिए आगामी आम चुनाव में पार्टी को समर्थन करने का आग्रह किया। खरगे ने प्रधानमंत्री मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने मणिपुर में हो रही हिंसा की घटनाओं की तुलना राज्य की कानून व्यवस्था से कर छत्तीसगढ़ के लोगों का अपमान किया है। कांग्रेस प्रमुख यहां राज्य सरकार द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम भरोसे का सम्मेलन में बोल रहे थे। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और सत्ता पक्ष के नेता मौजूद थे।

खरगे ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, प्रधानमंत्री मोदी ने मणिपुर में हिंसा की तुलना राज्य से करके छत्तीसगढ़ के लोगों का अपमान किया है। क्या मणिपुर जैसी घटना छत्तीसगढ़ में हुई है। मणिपुर में महिलाओं के साथ बलात्कार किया गया और उन्हें निर्वस्त्र कर दिया गया, घर जला दिये गये। मणिपुर में ऐसी स्थिति के लिए प्रधानमंत्री ही जिम्मेदार हैं। वह वहां जाने से डरते हैं। आप (प्रधानमंत्री) कई राज्यों और विदेशों का दौरा कर रहे हैं और भाषण दे रहे हैं, लेकिन मणिपुर नहीं गए। उन्होंने कहा, छत्तीसगढ़ बहुत ही शांत प्रदेश है और यहां की सरकार ने राज्य के लोगों से किए गए अपने वादे पूरे किए हैं।

उन्होंने कहा, वह कभी भी महंगाई और रोजगार के बारे में नहीं सोचते, बल्कि केवल यह सोचते हैं कि वह अगली बार कैसे चुना जाए। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली केंद्र की सरकार लोगों को तबाह करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन लोगों को सतर्क रहना चाहिए और अगले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को सत्ता में लाना चाहिए। हम छत्तीसगढ़ (विधानसभा चुनाव) में पार्टी की जीत के प्रति आश्वस्त हैं। उन्होंने कहा, हम संविधान और लोकतंत्र को बचाना चाहते हैं। इसलिए हमें पूरे देश में काम करना होगा। उन्होंने कहा कि 26 दलों के विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ की अगली बैठक 31 अगस्त और एक सितंबर को मुंबई में होगी और हम भाजपा को हराने के लिए अपना पूरा जोर लगा देंगे।

खरगे ने संसद में भाषण के दौरान मणिपुर मुद्दे पर राहुल गांधी और विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब नहीं देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की। उन्होंने कहा, मणिपुर में दो सौ से अधिक लोग मारे गए, पांच हजार लोग घायल हुए, पांच हजार घर जला दिए गए और 50 से 60 हजार लोगों को लोगों को शिविरों में रहना पड़ रहा है। राहुल गांधी जी और ‘इंडिया’ गठबंधन नेताओं ने मणिपुर का दौरा किया और एक बयान जारी किया। उन्होंने कहा, लेकिन हम अपने प्रधानमंत्री को सुनना चाहते थे, जो खुद को 140 करोड़ लोगों का प्रतिनिधि और देश का नंबर वन नेता होने का दावा करते हैं। विपक्ष को अविश्वास प्रस्ताव लाना पड़ा क्योंकि प्रधानमंत्री मणिपुर हिंसा पर अपनी चुप्पी नहीं तोड़ रहे थे।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं के सवालों का जवाब नहीं दिया। अपने भाषण के दौरान कांग्रेस पार्टी को दोषी ठहराते रहे और नेताओं का मजाक उड़ाते रहे। खरगे ने प्रधानमंत्री पर देश और समाज को बांटने का काम करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मोदी लगातार यह पूछते रहते हैं कि कांग्रेस ने 70 वर्षों में क्या किया। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री पूछते रहते हैं कि कांग्रेस ने 70 साल में क्या किया है। मोदीजी ऐसे दिखावा करते हैं जैसे देश में सब कुछ उन्होंने ही किया है। क्या मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश में स्कूल खुले। क्या मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश को बिजली मिली। यह कांग्रेस ही है जिसने स्कूल खोले और शिक्षा, स्वास्थ्य एवं रोजगार के अवसर प्रदान किए। उन्होंने कहा, ”मोदी और शाह हमारे स्कूलों (देश में कांग्रेस शासन के दौरान स्थापित) में पढ़े हैं। क्या उन्होंने लंदन या ऑक्सफोर्ड में पढ़ाई की है। वे हमसे पूछते हैं कि हमने 70 साल में क्या किया। हमने आपको सब सिखाया और मुख्यमंत्री बनाया और अब आप प्रधानमंत्री बन गए। हमने सब कुछ किया और अब सत्ता पर बैठने के बाद आप हमारा मजाक उड़ा रहे हैं।

खरगे ने कहा, आपने देश और समाज को बांटने का काम किया। हमने एम्स, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम बनाए और नौकरियां दीं। हमने जो बनाया था, अब आप उन्हें बेच रहे हैं और रोजगार छीन रहे हैं। आप अडानी, अंबानी और अन्य लोगों को बंदरगाह, हवाई अड्डे बेच रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा 2014 में संसद की सीढ़ियों पर झुकने और प्रणाम करने को ‘नाटक’ बताते हुए खरगे ने कहा, यह सब सिर्फ नाटक था। मोदी नाटक कंपनी में शामिल होने के बजाए संसद में आ गए हैं। उन्होंने कहा, राजीव गांधी के बाद गांधी परिवार का कोई भी सदस्य प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री या मंत्री नहीं बना। गांधी परिवार ने कभी सत्ता के लिए लड़ाई नहीं लड़ी क्योंकि वे सिर्फ देश की सेवा करना चाहते हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा, राहुल गांधी ने शांति के लिए कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा निकाली। भाजपा में वंशवाद के कई उदाहरण हैं। गांधी परिवार ने कभी भी सत्ता के लिए संघर्ष नहीं किया क्योंकि इसके सदस्य सिर्फ देश की सेवा करना चाहते हैं। भाजपा सिर्फ हमें बदनाम करने की कोशिश कर रही है। इस मौके पर खरगे और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 467.33 करोड़ रुपये के 1,043 विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने के बाद खरगे ने दूसरी बार छत्तीसगढ़ की यात्रा की है। उनकी इस यात्रा को विधानसभा चुनाव के लिए उनके अभियान की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है। कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने बताया कि खरगे की जांजगीर-चांपा की यात्रा महत्वपूर्ण है क्योंकि जिले में छह विधानसभा सीटें हैं और पार्टी ने 2018 के विधानसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद जिले में केवल दो सीटों पर ही पार्टी के उम्मीदवार जीते थे।

पिछले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने जिले में दो-दो सीटें जीती थीं। प्रदेश में 2018 में हुये विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज्य की कुल 90 सीटों में से 68 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि भाजपा 15 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रही थी। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जेसीसी (जे) को पांच सीटें तथा उसकी सहयोगी बसपा को दो सीटें मिली थीं। कांग्रेस के पास वर्तमान में 71 सीटें हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here