छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने मशीनों, वाहनों और मोबाइल टावर में आग लगाई

0
17

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में नक्सलियों ने अलग-अलग स्थानों पर सड़क निर्माण कार्य में लगे पांच वाहनों और मशीनों, एक यात्री बस और चार मोबाइल टावर में आग लगा दी है। पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि नक्सलियों ने पिछले महीने पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में अपने दो साथियों-दर्शन पद्दा और जागेश सलाम की मौत के विरोध में मंगलवार को एक दिन के बंद का आह्वान किया है। उन्होंने अंतागढ़ क्षेत्र में कई स्थानों पर बैनर और पोस्टर लगाए हैं।

कांकेर जिले के पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा के मुताबिक, पुलिस को जानकारी मिली है कि रविवार रात और सोमवार तड़के नक्सलियों ने क्षेत्र में सड़क निर्माण कार्य में लगे वाहनों, मशीनों और मोबाइल टावर में आगजनी की। उन्होंने बताया कि इन घटनाओं में किसी भी व्यक्ति को चोट पहुंचने की जानकारी नहीं है। घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए पुलिस दल रवाना किया गया है। सिन्हा के अनुसार, जानकारी मिली है कि नक्सलियों के दल ने मरकानार गांव के करीब प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत सड़क निर्माण कार्य में लगे एक जेसीबी और एक ग्रेडर मशीन, ट्रक और एक ट्रैक्टर में आग लगा दी, जबकि कोयलीबेड़ा में एक खाली बस को आग के हवाले कर दिया।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा नक्सलियों ने जीरम तराई, सिरसंगी, बदरंगी और परालकोट विलेज-45 गांवों में मोबाइल टावर में आग लगा दी। इस घटना में टावर के नीचे रखी बड़ी बैटरियां पूरी तरह से जल गईं। सिन्हा के मुताबिक, नक्सलियों ने सड़कों पर पेड़ गिराकर कोयलीबेड़ा-मर्दा मार्ग और अंतागढ़-नारायणपुर राज्य राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि नक्सलियों ने कई स्थानों पर बैनर और पोस्टर लगाए हैं, जिसमें उन्होंने नक्सली दर्शन पद्दा (32) और जागेश सलाम (23) की मौत के विरोध में 22 नवंबर को बंद का आह्वान किया है।

नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में सुरक्षा बलों ने 31 अक्टूबर को परतापुर एरिया कमेटी के सचिव दर्शन पद्दा और रेकी टीम कमांडर जागेश सलाम को मुठभेड़ में मार गिराया था। पद्दा पर आठ लाख और दर्शन पर पांच लाख रुपये का इनाम था। पुलिस के अनुसार, पद्दा पिछले कई वर्षों से उत्तर बस्तर क्षेत्र में सक्रिय था और 39 नक्सली घटनाओं में वांछित था। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और नक्सलियों की तलाश शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि कांकेर जिले की भानुप्रतापपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव को देखते हुए क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इस सीट पर उपचुनाव के लिए पांच दिसंबर को मतदान होना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here