छत्तीसगढ़ के नारायणपुर पुलिस मुठभेड़, पांच नक्सली मारे गए, हथियार और विस्फोटक बरामद

0
9

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में पांच नक्सलियों को मार गिराया तथा भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद किया है। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के कोहकामेटा थाना क्षेत्र के अंतर्गत हिकुलनार और घमंडी गांव के मध्य जंगल में सुरक्षाबलों ने मंगलवार को मुठभेड़ में पांच नक्सलियों को मार गिराया तथा भारी मात्रा में हथियार और अन्य सामान बरामद किया। उन्होंने बताया कि 30 जून को नारायणपुर के कोहकामेटा और सोनपुर थाना तथा ईरकभट्टी, मोहंदी और ढोढरीबेड़ा शिविर से डीआरजी, सीमा सुरक्षा बल, एसटीएफ और भारत तिब्बत सीमा पुलिस के संयुक्त दल को हिकुलनार और घमंडी गांव की ओर रवाना किया गया था।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अभियान के दौरान मंगलवार सुबह लगभग 10.30 बजे हिकुलनार और घमंडी गांव के मध्य नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। उन्होंने बताया कि कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से फरार हो गए। बाद में सुरक्षाबलों ने घटनास्थल की तलाशी ली तो वहां पांच नक्सलियों के शव, एक .303 राइफल, तीन .315 बोर राइफल, दो भरमार बंदूक, बीजीएल (बैरल ग्रेनेड लांचर) समेत भारी मात्रा में हथियार और अन्य नक्सली सामान बरामद किया गया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस मुठभेड़ में बड़ी संख्या में अन्य नक्सलियों के घायल होने और मारे जाने की संभावना है। अधिकारियों ने बताया कि मारे गए नक्सलियों की पहचान कराई जा रही है।

बताया जा रहा है कि इस मुठभेड़ में माओवादियों के सेंट्रल कमेटी सुरक्षा टीम के पीएलजीए कंपनी नंबर एक के नक्सली मारे गए हैं। सुरक्षा बलों के शिविर में लौटने के बाद इस संबंध में अधिक जानकारी मिल सकेगी। बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि 2024 में बस्तर क्षेत्र से अब तक कुल 136 माओवादियों के शव बरामद किए गए हैं तथा 482 माओवादियों को गिरफ्तार किया गया है जबकि इस क्षेत्र में 453 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया है।