एक व्यक्ति की मौत के बाद छत्तीसगढ़ में बवाल, तीसरे दिन भी तनावपूर्ण रही स्थिति, पुलिस फोर्स तैनात

0
82

छत्तीसगढ़ में बेमेतरा जिले के बीरनपुर गांव में सांप्रदायिक झड़प में एक व्यक्ति की मौत होने तथा तीन पुलिसकर्मियों के घायल होने के एक दिन बाद रविवार को स्थिति तनावपूर्ण रही और किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने सोमवार को राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है जबकि विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मृतक के परिजनों ने इस घटना के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया।

गांव जाने वाली सभी सड़कों पर पुलिस ने अवरोधक लगाए हैं तथा जिला और पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी शनिवार से गांव में डेरा डाले हुए हैं। इस बीच, मारे गए व्यक्ति का रविवार को उसके परिवार के सदस्यों तथा ग्रामीणों ने कड़ी सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार कर दिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। बेमेतरा से करीब 60 किलोमीटर दूर स्थित बीरनपुर में शनिवार को स्कूली बच्चों के बीच झड़प हो गई थी जिसके बाद हिंसा भड़क उठी। हिंसा में ग्रामीण भुवनेश्वर साहू (23) की मौत हो गई और तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए जिसके बाद स्थानीय प्रशासन को दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू करनी पड़ी।

बेमेतरा के जिलाधिकारी पी एस अल्मा ने कहा, ”मृतक व्यक्ति के परिजन, ग्रामीणों और प्रशासन के अधिकारियों के सहयोग से उसका अंतिम संस्कार किया गया। गांव में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति अब भी सामान्य नहीं है। प्रशासन और पुलिस के अधिकारी स्थिति की समीक्षा करेंगे जिसके बाद गांव तथा आसपास के इलाकों में शांति बनाए रखने के लिए भविष्य की योजनाएं बनायी जाएंगी। दुर्ग मंडल के आयुक्त महादेव कावरे ने कहा कि गांव में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए करीब 800 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

उन्होंने बताया कि पुलिस महानिरीक्षक (दुर्ग रेंज) और चार पुलिस अधीक्षकों समेत वरिष्ठ अधिकारी स्थिति पर नजर रखने के लिए गांव में ठहरे हुए हैं। हिंसा के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री बघेल ने रायपुर में पत्रकारों से कहा कि यह घटना नहीं होनी चाहिए थी। उन्होंने कहा, ”मैं लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। उन्होंने कहा, यह घटना दो बच्चों के बीच झगड़े का नतीजा थी और इसके बाद हुई हिंसा में एक युवक की मौत हो गयी। शिकायत के आधार पर कार्रवाई की जा रही है और प्रशासन स्थिति पर नजर रख रहा है। इस बीच, मृतक के परिवार के सदस्यों ने दोषियों के लिए मौत की सजा की मांग की। मृतक के पिता ईश्वर साहू ने कहा, ”मेरे बेटे के हत्यारों को मौत की सजा मिलनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि अगर पुलिस समय पर कार्रवाई करती तो इस घटना को रोका जा सकता था। उन्होंने कहा, वे लंबे वक्त से गांव में हिंदुओं को निशाना बनाने की योजना बना रहे थे। दुर्ग से भाजपा सांसद विजय बघेल और पार्टी के अन्य नेताओं ने रविवार को बीरनपुर गांव का दौरा किया तथा पुलिस से हथियार बरामद करने के लिए गांव में मुस्लिमों के घरों की तलाशी लेने की मांग की। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है और अभी तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मियों पर हमले के संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here