छत्तीसगढ़ विधानसभा में बैगा जनजाति परिवार के तीन सदस्यों की हत्या के मुद्दे पर हंगामा

0
16

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने शुक्रवार को विधानसभा में, राज्य के कबीरधाम जिले में एक बैगा जनजाति परिवार के तीन सदस्यों की हत्या को लेकर उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा के इस्तीफे की मांग की और हंगामा किया। हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही को दो बार स्थगित करना पड़ा और कांग्रेस विधायकों को निलंबित भी किया गया। अध्यक्ष ने इस मुद्दे पर चर्चा की विपक्ष की मांग को अस्वीकार कर दिया। शून्यकाल में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछले महीने कबीरधाम जिले में एक दंपति और उनके बच्चे की हत्या का मुद्दा उठाया और इस पर चर्चा कराए जाने की मांग की।

विपक्ष की मांग के बाद जब इस मुद्दे पर हंगामा हुआ तब अध्यक्ष रमन सिंह ने कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी। जैसे ही कार्यवाही दोबारा शुरू हुई, अध्यक्ष ने स्थगन प्रस्ताव नोटिस पढ़ा और मंत्री से अपना जवाब देने को कहा। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा की ओर से घटना और उस पर की गई कार्रवाई के बारे में बयान दिया। शर्मा के पास गृह विभाग भी है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष 15 जनवरी को खबर आई कि कबीरधाम जिले के कुकदूर थाना क्षेत्र के एक गांव में बुधराम बैगा, उनकी पत्नी हिरमति और उनके नाबालिग बेटे जोन्हू राम की झोपड़ी में आग लग जाने से मृत्यु हो गई है। जांच से पता चला कि 14 जनवरी की रात बुधराम अपने परिवार के साथ गांव में एक रिश्तेदार के घर एक समारोह में शामिल हुआ था। इस दौरान जमीन के एक टुकड़े को लेकर गांव के कुछ लोगों से उसका विवाद हो गया।

उन्होंने कहा कि अपराध के चश्मदीदों के बयान और फोरेंसिक जांच के आधार पर बृहस्पतिवार को दो महिलाओं सहित तेरह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और एक नाबालिग लड़के को हिरासत में लिया गया। इसके बाद अध्यक्ष सिंह ने स्थगन प्रस्ताव के नोटिस पर चर्चा की अनुमति नहीं दी। मंत्री के बयान पर असंतोष व्यक्त करते हुए कांग्रेस विधायकों ने पुलिस पर घटना को छुपाने की कोशिश करने का आरोप लगाया और दावा किया कि आरोपियों को बचाने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि अपराध के एक महीने से अधिक समय बीतने के बाद बृहस्पतिवार को आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। कांग्रेस विधायकों ने बैगा जनजाति परिवार को न्याय दिलाने, संबंधित जिला कलेक्टर को निलंबित करने और गृह मंत्री से इस्तीफे की मांग करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ सदस्य आसन के समक्ष भी आ गए। तब अध्यक्ष ने कांग्रेस सदस्यों को निलंबित करने की घोषणा के बाद कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी। विपक्षी सदस्यों ने अपनी मांगों के समर्थन में पोस्टर दिखाए, जिस पर अध्यक्ष ने आपत्ति जताई। इसके बाद, कांग्रेस सदस्य फर्श पर बैठ गए और ‘रघु पति राघव राजा राम’ का जाप करने लगे। बाद में, कांग्रेस सदस्यों ने कार्यवाही का बहिष्कार कर दिया और सदन से बाहर महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here