सीएम बघेल की बड़ी घोषणा, अगले वित्त वर्ष से छत्तीसगढ़ के बेरोजगार युवाओं को मिलेगा बेरोजगारी भत्ता

0
78

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस वर्ष के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि अगले वित्त वर्ष से राज्य में बेरोजगार युवाओं को मासिक बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने भी बेरोजगारों को भत्ता देने का वादा किया था। बघेल ने बस्तर जिला मुख्यालय जगदलपुर के लालबाग परेड मैदान में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद लोगों को संबोधित करते हुए रायपुर विमानतल के करीब एरोसिटी बनाने, महिला उद्यमिता को प्रोत्साहित करने के लिए नयी योजना शुरू करने एवं निर्माण श्रमिकों के लिए मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक आवास सहायता योजना शुरू करने समेत कई घोषणाएं कीं।

बघेल ने कहा, अगले वित्त वर्ष (2023-24) से बेरोजगार युवाओं को हर महीने बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि रायपुर हवाई अड्डे में यात्री सुविधाओं को बढ़ावा देने, हवाई अड्डा क्षेत्र के वाणिज्यिक विकास और रोजगार सृजन के लिए स्वामी विवेकानंद विमानतल के पास एयरोसिटी विकसित की जाएगी। बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल में लगातार तीन साल पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को अपना मकान बनाने के लिए 50 हजार रूपये अनुदान देने की योजना लाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कुटीर उद्योग आधारित ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाने और रोजगार एवं लोगों की आय बढ़ाने के लिये ग्रामीण उद्योग नीति बनाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि महिला समूहों, महिला उद्यमियों और महिलाओं के स्टार्ट अप को उद्योग स्थापित करने में मदद करने के लिए नवीन योजना शुरू की जाएगी। बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के आदिवासी समाज की संस्कृति और पर्वों के संरक्षण के लिये राज्य सरकार कटिबद्ध रही है। उन्होंने कहा कि आगामी वित्त वर्ष से सरकार बस्तर संभाग, सरगुजा संभाग और राज्य के अनुसूचित क्षेत्रों में आदिवासी समाज के पर्वों के उत्तम आयोजन के लिये प्रत्येक ग्राम पंचायत को 10 हजार रूपये प्रतिवर्ष प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग विभाग द्वारा विकसित औद्योगिक क्षेत्रों में स्थित इकाईयों को संपत्ति कर के भार से मुक्त किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की संस्कृति और विरासत को सहेजने और संजोने के बाद छत्तीसगढ़ को प्रगति पथ पर अनवरत आगे बढ़ाने के लिये राज्य में छत्तीसगढ़ राज्य नवाचार आयोग का गठन किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि रायपुर और दुर्ग जिले की जीवनदायिनी और जन आस्था का केंद्र खारून नदी व्यापार और मनोरंजन का भी एक महत्वपूर्ण केंद्र है। उन्होंने खारून नदी पर उत्कृष्ट ‘रिवर फ्रंट’ विकसित करने की घोषणा की। बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ माता कौशल्या की धरती है इसलिए प्रतिवर्ष चंदखुरी में कौशल्या महोत्सव आयोजित किया जाएगा। शोधार्थियों के अनुसार, रायपुर जिले में स्थित चंदखुरी माता कौशल्या की जन्मभूमि है और उन्हें समर्पित यह विश्व का एकमात्र मंदिर है। कांग्रेस सरकार ने अपनी महत्वाकांक्षी राम वन गमन पर्यटन सर्किट परियोजना के तहत मंदिर का जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण किया था। इस योजना के तहत राज्य के उन सभी महत्वपूर्ण स्थानों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है, जहां भगवान राम ने अपने वनवास के दौरान यात्रा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here