सिंहदेव के नहीं चाहने पर हसदेव जंगल में पेड़ तो क्या डाल भी नही कटेंगी : भूपेश

0
24

छत्तीसगढ़ में राजस्थान सरकार को आवंटित कोल खदान के लिए हसदेव जंगल में पेड़ों की कटान को लेकर मचे घमासान एवं इसके विरोध में क्षेत्रीय विधायक के भी उतरने के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक एवं वरिष्ठ मंत्री टीएस सिंहदेव के नहीं चाहने पर हसदेव जंगल में पेड़ तो क्या डाल भी नही कटेंगी। सीएम बघेल ने पत्रकारों के जंगल की कटाई का विरोध कर रहे लोगों के बीच पहुंचे सिंहदेव के विरोध कर रहे लोगों पर गोली चलने पर पहली गोली उनके ऊपर चलने को लेकर दिए गए बयान के बारे में पूछे जाने पर कहा कि हसदेव में गोली चलने की नौबत ही नही आएगी और जो गोली चलाने वाले हैं उन पर पहले ही गोली चल जाएंगी। उन्होंने कहा कि सिंहदेव क्षेत्रीय विधाय़क है अगर वे नही चाहेंगे तो पेड़ क्या एक डाल भी नही कटेंगी।

उन्होंने इस मसले पर प्रदेश भाजपा के विरोध पर तंज कसते हुए कहा कि कोल ब्लाक का आवंटन केन्द्र सरकार ने किया,पर्य़ावरण तथा वन अधिनियम केन्द्र सरकार का हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा को अगर कोल ब्लाक से ऐतराज हैं तो उसे केन्द्र को पत्र लिखकर इसे रद्द करने की मांग करनी चाहिए। दिखावे के लिए विरोध कर उन्हे लोगो को गुमराह करने से बाज आना चाहिए। दरअसल परसा ईस्ट कोल ब्लाक के दूसरे चरण की अनुमति मिलने के बाद से बड़ी संख्या में आदिवासी एवं अन्य लोग इसके लिए पेड़ों की कटाई का विरोध कर रहे हैं, जबकि आदिवासियों का एक वर्ग कोल ब्लाक के लिए जमीन अधिग्रहण एवं कटान का समर्थन कर रहा हैं। विरोधियों के मौके पर मौजूद रहने से पेड़ों की कटाई में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा हैं। विरोधियों का कहना है कि खदान के लिए लाखों पेड़ों की कटाई होगी, जबकि मुख्यमंत्री ने कहा हैं कि महज आठ हजार पेड़ कटेंगे उससे कई गुना ज्यादा पौधरोपण होगा। उन्होंने आरोप लगाया कि खदान को लेकर देश विदेश में दुष्प्रचार किया जा रहा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here