छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने सीआरपीएफ कमांडो पर की गोलीबारी

0
18

तेलंगाना से लगी छत्तीसगढ़ की सीमा पर सुरक्षा बलों द्वारा चलाए जा रहे व्यापक नक्सल विरोधी अभियान के दौरान हेलीकाप्टर से उतर रहे सीआरपीएफ कमांडो दल पर नक्सलियों ने गोलीबारी की। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कई बलों की एक संयुक्त टीम ने कुछ प्रमुख नक्सली नेताओं को निशाना बनाने के लिए आक्रामक अभियान शुरु किया है।

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के छत्तीसगढ़ सेक्टर ने एक बयान जारी कर कहा, ”तेलंगाना की सीमा से लगे बीजापुर-सुकमा क्षेत्र में नक्सलियों के विरूद्ध लगातार अभियान चलाया जा रहा है। हेलीकॉप्टर से उतरने के दौरान कोबरा बटालियन के जवानों और नक्सलियों के बीच गोलीबारी हुई जिसके बाद नक्सली भागने पर मजबूर हो गए। बयान में कहा गया है कि सुरक्षा बलों को कोई नुकसान नहीं हुआ है और नक्सलियों के नुकसान की सूचना प्राप्त करने की कोशिश की जा रही है। सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन विशेष बल है, जो नक्सलियों के खिलाफ अभियान के लिए तैनात है। बयान में कहा गया, सरकार द्वारा की जा रही विकास संबंधी गतिविधियों के कारण स्थानीय आबादी का समर्थन माओवादी तेजी से खोते जा रहे हैं।

सूत्रों ने बताया कि यह अभियान सुकमा जिले में अंतरराज्यीय सीमा पर दोपहर से चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस अभियान में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की कई इकाइयों के साथ ही उसकी कमांडो इकाई कोबरा, छत्तीसगढ़ पुलिस और तेलंगाना राज्य पुलिस के विशेष बल भी शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार विशिष्ट खुफिया सूचनाओं के आधार पर बलों को एकत्र किया गया है और उनका निशाना दक्षिण बस्तर क्षेत्र में सुकमा जिले का दक्षिणी सिरा है जिसके पास छत्तीसगढ़, तेलंगाना और ओडिशा की सीमाएं मिलती हैं। अधिकारियों ने बताया कि एक शीर्ष नक्सली कमांडर और उसके सशस्त्र सहयोगियों के साथ सुरक्षा बलों की मुठभेड़ जारी है। सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा बलों के लिए हेलीकॉप्टर, विशेष बलों के कमांडो, मानवरहित हवाई वाहन (यूएवी) और ग्लोबल पोजिशनिंग डेटा (जीपीएस) की मदद ली जा रही है। छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिरीक्षक (बस्तर रेंज) सुंदरराज पाटिलिंगम ने बताया कि सभी जवान सुरक्षित हैं और अभियान पूरा होने के बाद ब्यौरा दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here