छत्तीसगढ़ की तीन लोकसभा सीटों पर पहले दो घंटे में 15 फीसदी से अधिक मतदान

0
17

रायपुर। छत्तीसगढ़ के तीन लोकसभा क्षेत्रों में पहले दो घंटे में 15 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ की कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद लोकसभा सीटों के लिए सुबह सात बजे मतदान प्रारंभ हुआ। पहले दो घंटे में नौ बजे तक 15.42 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग कर लिया है। उन्होंने बताया कि कांकेर में 17.52 फीसदी, महासमुंद में 14.33 फीसदी और राजनांदगांव में 14.59 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया है। अधिकारियों ने बताया कि तेज गर्मी के कारण कई मतदाता सुबह जल्दी मतदान करने के लिए मतदान केंद्र पहुंचे।

शुरुआती मतदाताओं में राज्य के उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा और पूर्व सांसद अभिषेक सिंह ने कवर्धा शहर (राजनांदगांव सीट) में, भाजपा उम्मीदवार रूपकुमारी चौधरी ने महासमुंद सीट के हर्राटार गांव में और भाजपा उम्मीदवार भोजराज नाग और उनकी पत्नी ने कांकेर सीट के तहत अंतागढ़ में वोट डाला। आज हो रहे मतदान में तीन लोकसभा क्षेत्रों में कुल 41 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं लेकिन मुख्य मुकाबला सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के बीच होने की संभावना है। तीनों लोकसभा क्षेत्रों में नक्सलवाद का प्रभाव है। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि राज्य में दूसरे चरण में आज महासमुंद, राजनांदगांव और कांकेर (अनुसूचित जनजाति आरक्षित) सीट पर सुबह सात बजे मतदान प्रारंभ हो गया।

उन्होंने बताया कि तीन सीट में से कांकेर सीट का एक बड़ा हिस्सा नक्सल प्रभावित है, जहां सुरक्षा बल अतिरिक्त सतर्कता बरत रहे हैं। वहीं राजनांदगांव और महासमुंद के कुछ इलाके इस खतरे से जूझ रहे हैं। अधिकारियों ने बताया, ”कांकेर लोकसभा क्षेत्र में आठ विधानसभा क्षेत्र हैं और इनमें से अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, केशकाल और कांकेर विधानसभा क्षेत्रों में माओवादियों के खतरे को देखते हुए सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा।” उन्होंने बताया कि अन्य चार विधानसभा क्षेत्रों – सिहावा, संजारी-बालोद, डौंडीलोहारा और गुंडरदेही में मतदान का समय सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक है। अधिकारियों ने बताया कि राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र में मानपुर-मोहला विधानसभा क्षेत्र में सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा। शेष सात विधानसभा क्षेत्रों में सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा।

उन्होंने बताया कि महासमुंद निर्वाचन क्षेत्र के बिंद्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत नौ संवेदनशील मतदान केंद्रों को छोड़कर निर्वाचन क्षेत्र के सभी मतदान केंद्रों में सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा। संवेदनशील नौ मतदान केंद्रों में सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा। अधिकारियों ने बताया कि तीन सीट पर कुल 41 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें राजनांदगांव में 15, महासमुंद में 17 और कांकेर में नौ उम्मीदवार हैं। उन्होंने बताया कि तीनों निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 52,84,938 मतदाता हैं जिनमें से 26,05,350 पुरुष तथा 26,79,528 महिला मतदाता हैं। इन क्षेत्रों में तीसरे लिंग के 60 मतदाता पंजीकृत हैं। अधिकारियों ने बताया कि इन तीन निर्वाचन क्षेत्रों में 6,567 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। दूसरे चरण में 23 मतदान केंद्रों को अतिसंवेदनशील और 458 को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है।

उन्होंने बताया कि दूसरे चरण के लिए कुल 32,907 मतदान कर्मियों को तैनात किया गया है। तीन निर्वाचन क्षेत्रों में सुरक्षाकर्मियों की लगभग 222 कंपनी तैनात की गई हैं। छत्तीसगढ़ की सभी 11 लोकसभा सीटों के लिए तीन चरणों में मतदान हो रहा है। नक्सल प्रभावित बस्तर (अजजा) निर्वाचन क्षेत्र में 19 अप्रैल को पहले चरण के दौरान मतदान हुआ था। शेष सात सीटों पर सात मई को अंतिम चरण के दौरान मतदान होगा। राजनांदगांव सीट पर भाजपा के मौजूदा सांसद संतोष पांडेय और पूर्व मुख्यमंत्री तथा कांग्रेस के मौजूदा विधायक भूपेश बघेल के बीच मुकाबला है। सत्ताधारी भाजपा ने महासमुंद और कांकेर सीट पर अपने मौजूदा सांसदों के टिकट काट कर क्रमशः रूपकुमारी चौधरी और भोजराज नाग को मैदान में उतारा है। चौधरी और नाग पूर्व विधायक हैं। कांग्रेस ने महासमुंद में राज्य के पूर्व गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और कांकेर सीट पर बीरेश ठाकुर को मैदान में उतारा है। ठाकुर 2019 का लोकसभा चुनाव कांकेर सीट पर भाजपा उम्मीदवार से हार गए थे। लोकसभा चुनाव-2019 में भाजपा ने राज्य की नौ लोकसभा सीट पर और कांग्रेस ने दो सीट पर जीत दर्ज की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here