छत्तीसगढ़ के विकास में आड़े आ रहा है कांग्रेस का ‘पंजा’: प्रधानमंत्री मोदी

0
61

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ की सत्तारूढ़ कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य के विकास में उसका ‘पंजा’ आड़े आ रहा है और वह लोगों से ना सिर्फ उनका हक छीन रहा है बल्कि राज्य को ‘लूट कर बर्बाद’ करने को आतुर भी है। मोदी अपने एक दिवसीय दौरे में शुक्रवार को सुबह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर पहुंचे, जहां उन्होंने लगभग 7,600 करोड़ रुपये की लागत वाली 10 परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इसके बाद आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों को उपहार मिल रहा है क्योंकि इन परियोजनाओं से यहां रोजगार के कई नए अवसर भी पैदा होंगे तथा यहां के किसानों, खनिज सम्पदा से जुड़े उद्यमियों और अन्य लोगों को लाभ होगा। यहां साइंस कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया व जिनकी आधारशिला रखी गई, उनसे रोजगार के पर्याप्त अवसर पैदा होंगे और राज्य के लोगों का जीवन आसान होगा।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, ”छत्तीसगढ़ वह राज्य है, जिसके निर्माण में भाजपा की प्रमुख भूमिका रही है। भाजपा ही छत्तीसगढ़ के लोगों को समझती है, उनकी जरूरतों को जानती है…अगले 25 साल छत्तीसगढ़ के विकास के लिए बहुत ही अहम हैं, लेकिन इसके विकास के सामने एक बहुत बड़ा पंजा दीवार बनकर खड़ा हो गया है। ये कांग्रेस का पंजा है, जो आपसे आपका हक छीन रहा है। इस पंजे ने ठान लिया है कि वह छत्तीसगढ़ को लूट-लूट कर बर्बाद कर देगा। कांग्रेस का चुनाव चिह्न हाथ का पंजा है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा, ”गंगा जी की झूठी कसम खाने का पाप कांग्रेस ही कर सकती है। याद कीजिए गंगा जी को साक्षी मानकर इन्होंने एक घोषणा पत्र जारी किया था और दावा किया था 10 दिन के भीतर ये कर देंगे वो कर देंगे… तब कांग्रेस ने बड़ी-बड़ी बातें कही थी। लेकिन आज घोषणा पत्र की याद दिलाते ही कांग्रेस की याददाश्त चली जाती है। छत्तीसगढ़ में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ”छत्तीसगढ़ के लोगों को उपहार मिल रहा है। यह उपहार ‘संपर्क’ के लिए है। छत्तीसगढ़ के लोगों का जीवन आसान बनाने के लिए है। यहां के स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए है। इन परियोजनाओं से यहां रोजगार के कई नए अवसर भी पैदा होंगे। यहां के किसानों, खनिज सम्पदा से जुड़े उद्यमियों और अन्य लोगों को इससे लाभ होगा। उन्होंने कहा कि जहां भी बुनियादी ढांचा कमजोर था, वहां विकास देर से पहुंचा, इसलिए भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार उन क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का विकास कर रहे हैं जो विकास की दौड़ में पिछड़ गए थे। उन्होंने कहा कि पिछले नौ वर्षों में छत्तीसगढ़ में 3,500 किलोमीटर की राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाएं स्वीकृत की गईं, जिनमें से 3,000 किलोमीटर की परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं और ये परियोजनाएं आदिवासी बहुल क्षेत्रों में सुविधाओं व विकास की एक नयी यात्रा शुरू करेंगी। मोदी ने कहा कि केंद्र पिछले कई दशकों से अन्याय झेल रहे और सुविधाओं की कमी से जूझ रहे लोगों को आज आधुनिक सुविधाएं मुहैया करा रहा है।

उन्होंने कहा, ”भारत सरकार के प्रयासों से छत्तीसगढ़ में एक करोड़ 60 लाख से ज्यादा जनधन बैंक खाते खोले गए हैं। इन खातों में छह हजार करोड़ रुपये जमा हैं। यह श्रमिकों और मजदूरों का पैसा है। जनधन खातों से उन्हें केंद्र की परियोजना से सीधे मदद मिल पा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा, ”छत्तीसगढ़ के युवाओं को रोजगार मिले, इसके लिए भी केंद्र सरकार काम कर रही है। भारत सरकार ने छोटे उद्योगों को मदद देने के लिए भी विशेष योजना चलायी है। इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ के दो लाख उद्यमियों को पांच हजार करोड़ रुपये की मदद दी गई है।’ अपने संबोधन में मोदी ने कहा, ”इससे पहले किसी सरकार ने रेहड़ी पटरी वालों की सुध नहीं ली, इसलिए वे गांव से जाकर शहरों में काम करते हैं। लेकिन केंद्र सरकार ने रेहड़ी पटरी वालों के लिए भी योजनाएं बनायी हैं।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के निर्माण में भाजपा की प्रमुख भूमिका रही है और भाजपा ही यहां के लोगों को समझती है, उनकी जरूरतों को जानती है। इससे पूर्व प्रधानमंत्री मोदी विशेष विमान से सुबह लगभग साढ़े 10 बजे रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानतल पहुंचे, जहां पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया।
भाजपा नेताओं ने बताया कि विमानतल में स्वागत के बाद प्रधानमंत्री मोदी हेलीकॉप्टर में सवार होकर साइंस कॉलेज मैदान स्थित कार्यक्रम स्थल के लिए रवाना हो गए। बीती रात से ही रायपुर में बारिश हो रही है। राज्य के अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के पंडित रविशंकर शुक्ल हेलीपैड पहुंचने पर राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उनकी अगवानी की। उन्होंने प्रधानमंत्री को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल ने प्रधानमंत्री को स्मृति चिन्ह के रूप में छत्तीसगढ़ के कारीगरों द्वारा तैयार अंगवस्त्रम और ‘श्रीअन्न’ (मोटे अनाज) की टोकरी भेंट की। राज्य के वरिष्ठ नेताओं ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय राजमार्ग 30 के 33 किलोमीटर लंबे रायपुर-कोडेबोड़ खंड के चार लेन और एनएच-130 के 53 किलोमीटर लंबे चार लेन वाले बिलासपुर-पथरापाली खंड का लोकार्पण किया।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने रायपुर-विशाखापत्तनम आर्थिक गलियारे के अंतर्गत छह लेन वाले झांकी-सरगी खंड (43 किलोमीटर), सरगी-बासनवाही (57 किलोमीटर) और बसनवाही-मारंगपुरी खंड (25 किलोमीटर) का शिलान्यास किया। अधिकारियों ने बताया कि कोरबा में 136 करोड़ रुपये की लागत से बने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के एक एपलीजी बॉटलिंग प्लांट का भी प्रधानमंत्री ने लोकार्पण किया। अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान प्रधानमंत्री ने ‘आयुष्मान भारत परियोजना’ के तहत लाभार्थियों को कार्ड के वितरण की शुरुआत की तथा अंतागढ़ (कांकेर जिला) से रायपुर के लिए एक नयी ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। बारिश में ही साइंस कॉलेज मैदान में कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसमें राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया, उप मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here