भाई-भाभी और दो बच्चों की हत्या के आरोप में छोटे भाई समेत तीन गिरफ्तार

0
25

रायपुर। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में भाई-भाभी और उसके दो बच्चों की हत्या के आरोप में पुलिस ने छोटे भाई और उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। दुर्ग जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बताया कि कुम्हारी थाना क्षेत्र के कपसदा गांव में भोलानाथ यादव (34), उसकी पत्नी नैला यादव (30), पुत्र परमद यादव (12) और पुत्री मुक्ता यादव (सात) की हत्या के आरोप में पुलिस ने भोलानाथ यादव के भाई किस्मत यादव (33), तथा उसके दो मित्र आकाश मांझी (35) और टीकम दास घृतलहरे (49) को गिरफ्तार किया है। पल्लव ने बताया कि भोलानाथ और उसके परिवार की हत्या स्त्रियों से अवैध संबंध से उपजे विवाद और पैसों के लेन-देन के कारण हुई है।

उन्होंने बताया कि 29 सितंबर को सुबह टंडन बाड़ी में यादव परिवार की हत्या की जानकारी मिलने के बाद पुलिस दल को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया था और फिर शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया था एवं मामले की जांच शुरू की गयी थी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब पुलिस ने ग्रामीणों से पूछताछ की तब जानकारी मिली कि घटना के बाद से गांव के दो व्यक्ति आकाश मांझी और टीकम दास धृतलहरे कहीं चले गए हैं। उनके अनुसार पुलिस ने जब दोनों की खोज शुरू की तब जानकारी मिली कि दोनों ओडिसा में हैं।

उन्होंने बताया कि दूसरी ओर पुलिस जब गांव में ही रहने वाले भोलानाथ के भाई किस्मत यादव के घर पहुंची तब उसके घर की चौखट पर खून के निशान थे और करीब ही मानव शरीर का हिस्सा पाया गया। अधिकारी के अनुसार जब पुलिस ने उससे कड़ाई से पूछताछ की तब किस्मत ने कबूल किया कि दोस्तों के साथ मिलकर उसने अपने भाई और उसके परिवार सदस्यों की हत्या कर दी।

पल्लव के अनुसार किस्मत ने बताया कि वह अपने परिवार का भरण-पोषण मुश्किल से कर पाता था और भोलानाथ के पास अधिक संपत्ति थी, जिसके कारण उसे उससे रंजिश था। किस्मत ने कथित रूप से पुलिस को बताया कि भोलानाथ शराब पीने और गांव के आकाश मांझी के साथ मिलकर महिलाओं के साथ अवैध संबंध भी बनाना शुरू कर दिया था और लेकिन कुछ समय पहले अवैध संबंध के कारण आकाश और भोलानाथ के बीच विवाद हो गया था। किस्मत ने पुलिस को बताया कि भोलानाथ से विवाद के बाद आकाश ने उसके (किस्मत के) साथ मित्रता कर ली थी और दोनों भोलानाथ से बदला लेना चाहते थे।

अधिकारी के अनुसार इसी रंजिश के कारण किस्मत, आकाश और एक अन्य व्यक्ति टीकम 28-29 सितंबर की रात भोलानाथ के घर पहुंचे और उनका भोलानाथ से विवाद हो गया और तीनों ने मिलकर कुल्हाड़ी से भोलानाथ की हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार बाद में उन्होंने उसकी पत्नी और दोनों बच्चों को भी मार डाला। पुलिस के अनुसार घटना के बाद घर में रखे सात लाख 92 हजार 400 रूपए नगद और कुछ सोने-चांदी के जेवर लेकर फरार हो गए। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने भोलानाथ और उसके परिवार की हत्या के आरोप में किस्मत यादव तथा ओडिसा के भवानीपट्टना से आकाश और टीकम को गिरफ्तार किया है। पल्लव ने बताया कि पुलिस ने घटना के 30 घंटे के भीतर ही इस मामले का खुलासा कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here