छत्तीसगढ़ में अलग-अलग मुठभेड़ों में तीन नक्सली मारे गए

0
14

रायपुर/बीजापुर। छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर क्षेत्र में शनिवार को सुरक्षाकर्मियों और माओवादियों के बीच हुई दो मुठभेड़ों में तीन नक्सली मारे गए। पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीजापुर जिले में दो नक्सली मारे गए जबकि पड़ोसी सुकमा जिले में एक और नक्सली मारा गया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि बीजापुर में मिरतुर पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत जप्पेमरका-कमकानार गांवों के पास जंगल में उस समय मुठभेड़ हुई, जब जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) की एक टीम नक्सल विरोधी अभियान पर निकली थी। उन्होंने बताया कि माओवादियों के पश्चिम बस्तर संभाग आपूर्ति दल के प्रभारी पंडरू और भैरमगढ़ क्षेत्र समिति के सदस्य जोगा के साथ 10-15 सशस्त्र माओवादियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना के आधार पर अभियान शुरू किया गया था। अधिकारी ने बताया कि दल जब जप्पेमरका-कमकानार गांव के जंगल में था, तब नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद जवानों ने भी जवाबी करवाई की।

उन्होंने बताया कि जब गोलीबारी बंद हुई तब घटनास्थल से दो नक्सलियों के शव बरामद किए गए। इसके अलावा हथियार, वायरलेस सेट, बैग, माओवादी वर्दी, दवाइयां और दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद की गईं। वहीं, सुकमा के पुलिस अधीक्षक किरण चव्हाण ने बताया कि सुकमा में बेलपोचा गांव के पास एक जंगली पहाड़ी पर मुठभेड़ हुई, जब सुरक्षाबलों का एक संयुक्त दल नक्सल विरोधी अभियान पर था। उन्होंने बताया कि 26 मई को बंद के आह्वान को देखते हुए बेलपोचा, जीनेटोंग और उस्कावाया गांवों के जंगलों में माओवादियों के एकत्र होने की सूचना के आधार पर जिला रिजर्व गार्ड, बस्तर फाइटर्स और जिला बल ने शुक्रवार रात को अभियान शुरू किया गया। कथित फर्जी मुठभेड़ों के विरोध में माओवादियों ने 26 मई को बस्तर क्षेत्र में बंद का आह्वान किया है।

चव्हाण ने बताया कि जब गश्ती दल बेलपोचा के पास था, तब दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी शुरू हो गई। अधिकारी ने बताया कि गोलीबारी बंद होने के बाद एक नक्सली का शव बरामद किया गया। इसके अलावा हथियार, विस्फोटक और माओवादी संबंधी सामग्री मौके से बरामद की गई है। पुलिस ने बताया कि मारे गए तीन नक्सलियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है और दो मुठभेड़ स्थलों पर तलाशी अभियान जारी है। इस घटना के साथ ही इस साल अब तक राज्य में सुरक्षा बलों के साथ अलग-अलग मुठभेड़ों में 116 नक्सली मारे जा चुके हैं। बृहस्पतिवार को नारायणपुर-बीजापुर सीमा पर जंगल में सुरक्षाकर्मियों के साथ मुठभेड़ में सात नक्सली मारे गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here