छत्तीसगढ़ हिंसा : आरोपियों की सूचना देने पर इनाम देने की घोषणा

0
85

छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले की पुलिस ने बिरनपुर हिंसा के बाद 55 वर्षीय एक व्यक्ति और उसके बेटे की हत्या के आरोपियों के संबंध में सूचना देने वाले को 10 हजार रुपये नकद इनाम देने की घोषणा की है। बिरनपुर के शक्ति घाट इलाके के रहने वाले रहीम मोहम्मद और उनके बेटे इदुल मोहम्मद (35) के शव गांव से कुछ किलोमीटर दूर एक मुरुम खदान में 11 अप्रैल को बरामद किए गए थे। बिरनपुर गांव में आठ अप्रैल को सांप्रदायिक हिंसा हुई थी। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है तथा मामले की जांच की जा रही है।

अधिकारियों ने बताया कि लगातार कोशिशों के बावजूद पुलिस अभी तक आरोपियों के बारे में कोई जानकारी हासिल नहीं कर पाई है। इसे ध्यान में रखते हुए बेमेतरा जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) इंदिरा कल्याण एलेसेला ने आरोपियों की सूचना देने वाले व्यक्ति को 10 हजार रुपए नकद इनाम की घोषणा की है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मुखबिर की पहचान गुप्त रखी जाएगी। राजधानी रायपुर से लगभग 100 किलोमीटर दूर स्थित बिरनपुर गांव में आठ अप्रैल को कथित तौर पर स्कूली बच्चों के बीच हुए झगड़े के बाद सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी। इस झड़प में एक स्थानीय युवक भुनेश्वर साहू (22) की मौत हो गई थी तथा तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे।

घटना के तीन दिन बाद रहीम और उनके बेटे इदुल मोहम्मद (35) के शव बरामद किए गए। शव पर चोट के निशान मिले थे। सांप्रदायिक हिंसा के विरोध में 10 अप्रैल को हिंदू संगठनों ने राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया था। इसी बीच बिरनपुर के बाहरी इलाके में कुछ लोगों ने रहीम मोहम्मद के दामाद के घर समेत दो मकानों में आग लगा दी थी। जिला प्रशासन ने पूरे बेमेतरा जिले में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू कर दी है। बिरनपुर में हुई घटनाओं के मामले में साजा थाने में छह प्राथमिकी दर्ज की गयी है। हालांकि पुलिस के मुताबिक साहू की हत्या के अलावा किसी भी मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। अधिकारियों ने बताया कि साहू की हत्या के आरोप में पुलिस ने 11 लोगों को गिरफ्तार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here