छत्तीसगढ़ में नफरत फैलाने वाले पोस्ट के मामले में भाजपा के आठ नेताओं को नोटिस

0
89

छत्तीसगढ़ में रायपुर जिले की पुलिस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नफरत फैलाने वाली सामग्री पोस्ट करने के आरोप में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश प्रवक्ता समेत आठ नेताओं को नोटिस जारी किया है। रायपुर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रशांत अग्रवाल ने शुक्रवार को बताया कि नेताओं को पोस्ट के संबंध में थाने में पेश होने के लिए कहा गया है। अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने भाजपा के प्रदेश आईटी सेल प्रभारी सुनील एस पिल्लई, प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव, कोषाध्यक्ष नंदन जैन, भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ अध्यक्ष केदारनाथ गुप्ता, भाजपा युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष योगी साहू, युवा मोर्चा के विभाग संयोजक कमल शर्मा, डीडी नगर युवा मोर्चा अध्यक्ष शुभंकर और भाजपा कार्यकर्ता बिट्टू पाणिग्रही को नफरत फैलाने वाली सामग्री पोस्ट करने के मामले में नोटिस जारी किया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 12 अप्रैल को छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेताओं ने रायपुर जिले में पुलिस से शिकायत की थी कि भाजपा नेताओं ने सोशल मीडिया हैंडल के माध्यम से नफरत फैलानी वाली सामग्री को पोस्ट किया था। उन्होंने बताया कि भाजपा सदस्यों ने बिरनपुर हिंसा संबंधित पोस्ट किया था जिसमें उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ- भूपेश का जिहादगढ़, ‘तालिबानी हुकूमत’ और इसी तरह के अन्य आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था। भाजपा नेताओं को जारी नोटिस में कहा गया है कि उनका पोस्ट लोकशांति पर विपरीत प्रभाव डालने वाला, आमजन के मन में वैमनस्य और आक्रोश उत्पन्न करने तथा सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाला है।

नोटिस में कहा गया है कि उच्चतम न्यायालय द्वारा भी नफरत फैलाने वाले पोस्ट पर कार्रवाई के लिए दिशा निर्देश जारी किया गया है। रायपुर से लगभग 100 किलोमीटर दूर स्थित बिरनपुर गांव में आठ अप्रैल को स्कूली बच्चों के बीच मारपीट के बाद हिंसा भड़क गई थी। इस झड़प में एक स्थानीय निवासी भुनेश्वर साहू (22) की मौत हो गई थी और तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। तीन दिन बाद, रहीम और उनके बेटे इदुल मोहम्मद के शव बरामद किए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here