किसान और गांव के विकास के बगैर भारत के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है: राजनाथ सिंह

0
20

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि किसान और गांव के विकास के बगैर भारत के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है। वह आज छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के ‘साइंस’ कॉलेज मैदान में किसान महाकुंभ में आए किसानों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अपने संबोधन में राज्य की पिछली कांग्रेस सरकार पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने और विकास को पटरी से उतारने का भी आरोप लगाया। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में किए गए कार्यों को जनता के सामने रखा और कहा, जब 2014 में (केंद्र में) जब हमारी सरकार आई, तब हम कहते थे कि गांव, गरीब, किसान, झोपड़ी का इंसान, बेरोजगार नौजवान और माता-बहनों का सम्मान भारतीय जनता पार्टी की प्रतिबद्धता है, इनका उत्थान होना चाहिए। आपने देखा कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनते ही इस दिशा में हमने तेजी से कदम बढ़ाया है। आज हालात पूरी तरह से बदलते जा रहे हैं।

सिंह ने कहा कि आज हिंदुस्तान की 25 करोड़ जनता गरीब रेखा से बाहर आ चुकी है। उन्होंने कहा, यह नीति आयोग कह रहा है। मैं विश्वास दिलाता हूं कि इस बार मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनाइए, हिंदुस्तान को हम पूरी तरह से गरीबी से मुक्त करेंगे। उन्होंने कहा, देश में मिट्टी के स्वास्थ्य से संबंधित कार्ड किसानों को देना शुरू किया गया है ताकि वे समझ सकें कि मिट्टी का स्वास्थ्य कैसा है, मिट्टी में किस चीज की कमी है, उसमें क्या मिलाया जाए जिससे उसकी उत्पादकता बढ़ जाए। देश में 23 करोड़ से ज्यादा किसानों को यह कार्ड दिया गया है। किसानों को किसान सम्मान निधि भी मिल रहा है। सिंह ने कहा, पूरी दुनिया में खाद की कीमत बढ़ रही है। अमेरिका जैसे देश में खाद तीन हजार रूपए प्रति बोरा मिलता है। लेकिन हमारे देश में इसकी कीमत तीन सौ रूपये प्रति बोरा है। रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण सारी दुनिया में महंगाई बढ़ गई है। लेकिन मोदी जी की सरकार ने महंगाई को नियंत्रित करने का काम किया। सरकार ने खाद की कीमत को नहीं बढ़ने दिया।

आप भरोसा रखिए कि मोदी जी किसी भी सूरत में किसानों की परेशानी नहीं बढ़ने देंगे। यह प्रधानमंत्री मोदी की गारंटी है। उन्होंने श्री अन्न को लेकर कहा, छत्तीसगढ़ में मोटा अनाज भी पैदा होता है। इसे प्रधानमंत्री ने श्री अन्न कहा है। वह स्वयं भी इसे खाते हैं। देश का रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मोटा अनाज खाता है…देश में जी 20 का सम्मेलन हुआ। दुनिया के बड़े-बड़े देशों के राष्ट्राध्यक्ष आए थे। प्रधानमंत्री ने आपके पसीने का सम्मान करते हुए कहा कि किसान यदि मोटा अनाज खाता है तो बड़े देशों के जो राष्ट्राध्यक्ष आए हैं उनको भी हम मोटा अनाज खिलाएंगे। उनको भी मोटा अनाज खिलाया गया। यह है भारत। सिंह ने पिछली सरकारों द्वारा किसानों के लिए किए गए कार्यों से तुलना करते हुए कहा, ”2014 से पहले कांग्रेस की सरकार खेती का बजट केवल 25 हजार करोड़ रुपए रखती थी। आज हमारे प्रधानमंत्री ने बजट को पांच गुना बढ़ाकर एक लाख 25 हजार करोड़ रुपए कर दिया है। देश में फसल बीमा योजना लागू है…कांग्रेस सरकार गेहूं का समर्थन मूल्य प्रति क्विंटल 1040 रुपए दे रही थी। हम आपको 2125 रुपए प्रति क्विंटल देंगे।

छत्तीसगढ़ में आप मोटा अनाज पैदा कीजिए, हम यकीन दिलाते हैं कि आपका मोटा अनाज हमारी सरकार खरीदेगी और दुनिया के बड़े-बड़े देशों को निर्यात करेगी।” उन्होंने कहा, ”हमारी सरकार ने छोटी-छोटी चीजों का ध्यान रखा है…किसान का बेटा होने के नाते मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि किसान और गांव के विकास के बगैर भारत के विकास की कल्पना किसी भी सूरत में नहीं की जा सकती है।” सिंह ने राज्य में कांग्रेस के नेतृत्व वाली पिछली सरकार पर निशाना साधा और कहा, ”आपने देखा होगा कि जो विकास पटरी से उतर गया था वह विष्णु देव साय के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में सरकार बनते ही पटरी पर लौट आया है। छत्तीसगढ़ राज्य बनाने का काम अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था। भारतीय जनता पार्टी ने किया था। लेकिन बीच में पांच वर्षों के लिए कांग्रेस की हुकूमत आ गई। उस समय भ्रष्टाचार का कितना बोलबाला था- यह आपको बताने की जरूरत नहीं है। यह आपको एहसास होगा। छत्तीसगढ़ के भाग्य को संवारने का सामर्थ्य किसी में है तो वह भारतीय जनता पार्टी में है। उन्होंने कहा, मैं यह भी सच्चाई समझता हूं कि यदि हमें छत्तीसगढ़ का भाग्य बनाना है तब यहां के किसान भाइयों के भाग्य को बनाना पड़ेगा। तभी यह छत्तीसगढ़ विकास की ऊंचाइयों को छू सकता है। मैं इस सच्चाई को भी जानता हूं कि सबसे मेहनतकश जनता भी छत्तीसगढ़ की है। मैंने गांव-गांव जाकर किसानों को अपने शरीर का पसीना बहाते हुए देखा है। भारत धनवान होगा तो भारतवासियों के पसीने के परिणाम स्वरूप ही होगा। सिंह ने कहा, मैं भी किसान का बेटा हूं, मैं जानता हूं कि किसानों के अंदर वह सामर्थ्य है कि वह मिट्टी के अंदर से सोना निकाल सकते हैं। मेरी सरकार हिंदुस्तान के किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है।

उन्होंने किसानों से कहा कि अब आपने डबल इंजन की सरकार बना दी है। उन्होंने कहा, जो भी हमने वादे किए हैं वह हर वादा पूरा होगा। सिंह ने कहा, कांग्रेस परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण की राजनीति करती है। भारतीय जनता पार्टी इंसाफ और इंसानियत की राजनीति करती है। हम नए भारत का निर्माण कर रहे हैं। उन्होंने कहा, हमारा चरित्र है कि हमने जो कहा है, वह हमने पूरा किया है। हमने कहा था कि संसद में स्पष्ट बहुमत मिल जाएगा तो अयोध्या की धरती पर राम का भव्य मंदिर बनने से दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकता है। प्रधानमंत्री ने 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा भी कर दी। रामलला अपनी कुटिया से चलकर अयोध्या में अपने महल में आ चुके हैं। हिंदुस्तान में राम राज्य का सिलसिला प्रारंभ हो जाएगा। रक्षा मंत्री ने कहा, ”पहले भारत की बात अंतरराष्ट्रीय मंच पर कोई सुनता नहीं था। आज जब भारत अंतरराष्ट्रीय मंचों पर बोलता है सारी दुनिया कान खोल कर सुनती है कि भारत बोल क्या रहा है। यह भारत की हैसियत बनी है। सारी दुनिया के राष्ट्राध्यक्ष कहते हैं कि 21 सदी भारत की है। इस दौरान मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय, उनके मंत्रिमंडल के सदस्य, किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजकुमार चाहर और बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here