वरिष्ठ साहित्यकार सुधीर सक्सेना को सीएम भूपेश ने वसुंधरा सम्मान से किया सम्मानित

0
68

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि जनहित में लिखने वालों को अपनी कलम कभी रोकनी नहीं चाहिए, जिससे कि प्रायोजित रूप से फैलाये जा रहे झूठ की सच्चाई भी सही लेखन से सामने आ सके। सीएम बघेल ने आज यहां मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित वसुंधरा सम्मान समारोह में वरिष्ठ साहित्यकार-पत्रकार सुधीर सक्सेना को यह सम्मान प्रदान करते हुए कहा कि शब्दों को संजोना एक कठिन विधा है। उसमें भावनाएं पिरोना और भी कठिन है। छत्तीसगढ़ी समाज बहुत सरल सहज है लेकिन यह सहजता आसान नहीं है। बहुत प्रयत्न से यह सफलता मिलती है। यह सरलता लोगों को इतनी भाती है कि जो भी एक बार छत्तीसगढ़ आता है छत्तीसगढ़ उसे अपना लेता है।

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर कोई आपसे असहमत है और आप उग्र नहीं हो रहे तो समझिये कि आप गांधी जी के रास्ते पर चल रहे हैं। इस मौके पर अपने संबोधन में सक्सेना ने कहा कि किसी भी पुरस्कार की महत्ता का आंकलन इस बात से होता है कि वो निरंतरता रचती है या नहीं। इसका निर्धारण इस बात से भी होता है कि यह पुरस्कार किन लोगों को पूर्व में सम्मानित किया जा चुका है। इस दृष्टि से यह पुरस्कार मेरे लिए संतोष का विषय है। इस अवसर पर मुख्य वक्ता पत्रकार राजेश बादल ने आंचलिक पत्रकारिता की चुनौतियों तथा इनके महत्व के विषय में विस्तार से बात की। साथ ही वर्तमान परिदृश्य में पत्रकारिता के समक्ष चुनौतियों पर भी चर्चा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here