छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस, वरिष्ठ नेताओं ने बनाई रणनीति

0
19
congress
congress

रायपुर। छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी दल कांग्रेस ने आगामी विधानसभा की तैयारी शुरू कर दी है और पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) ने शुक्रवार को चुनाव की रणनीति को लेकर विचार-विमर्श किया। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने यह जानकारी दी। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि पार्टी के प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में शुक्रवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया की अध्यक्षता में पार्टी पीएसी की बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मंत्री टी.एस. सिंहदेव, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी सचिव डॉक्टर चंदन यादव और अन्य सदस्य मौजूद रहे।

पुनिया ने संवाददाताओं से कहा कि बैठक में वर्ष 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की रणनीति समेत अन्य विषयों पर चर्चा की गई। उन्होंने कहा, बैठक में महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की गई। बैठक में तय किया गया कि बेहतर समन्वय के साथ आगे काम किया जाए। साथ ही 2023 का विधानसभा चुनाव किस तरह से लड़ा जाए और किन-किन बातों पर विशेष ध्यान दिया जाए, इस पर भी विचार किया गया। वहीं, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि बैठक में पार्टी की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी के प्रति कृतज्ञता प्रस्ताव पारित किया गया।

बघेल ने कहा, पुनिया जी की अध्यक्षता में आज बैठक हुई। उन्होंने बैठक के उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी। सोनिया गांधी जी ने पार्टी में जो सेवाएं दी हैं और सबसे लंबे समय तक कांग्रेस की अध्यक्ष रही हैं, उनके योगदान को याद करते हुए उनके प्रति कृतज्ञता प्रस्ताव पारित किया गया। साथ ही यह भी प्रस्ताव पारित किया गया कि पार्टी के नवनिर्वाचित अध्यक्ष खरगे जी के नेतृत्व में पार्टी आने वाली चुनौतियों का मजबूती से सामना करेगी। उन्होंने कहा, ”इसके साथ ही आने वाले चुनाव की रणनीति पर भी चर्चा हुई। आवश्यक निर्देश हमारे प्रभारी जी द्वारा दिए गए। उसका क्रियान्वयन हम सबको करना है।

पार्टी के नेताओं ने बताया कि बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम मौजूद नहीं थे। हालांकि, उन्होंने मरकाम की अनुपस्थिति के कारणों के बारे में जानकारी नहीं दी। छत्तीसगढ़ में वर्ष 2023 में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं। राज्य में वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 90 में से 68 सीट जीती थीं, जबकि भाजपा ने 15 पर जीत हासिल की थी। वहीं, जेसीसी (जे) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने क्रमश: पांच और दो सीटें हासिल की थीं। बाद में कांग्रेस ने राज्य में चार उपचुनाव भी जीते और 90 सदस्यीय राज्य विधानसभा में उसके सदस्यों की संख्या 71 हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here